By।शिवचरण सिन्हा

अंतागढ़ /कांकेर/ ।प्राथमिक शाला कोटनखोड विकास खंड अंतागढ़ में अंगना में शिक्षा कार्यक्रम के तहत माता उन्मुखीकरण का आयोजन किया गया। जिसमे वाकेश्वरी साहू व छिड़को के द्वारा बाल्यावस्था में बच्चों की उचित देखभाल पोषण और उनका सर्वांगीण विकास के संबंध में उपस्थिति माताओ को जानकारी देते हुए कहा कि इस आयु में बच्चों का बौद्धिक एवं शारीरिक विकास तीव्र गति से होता है इसके लिए बच्चों को पर्याप्त अवसर और माहौल मिलना चाहिए ,इसी उद्देश्य को लेकर माता उन्मुखीकरण कार्यक्रम किया गया।

माता ही प्रथम गुरु होती है, बच्चों की स्कूल आने से पहले की तैयारी आनंदमय माहौल में खेलकूद के साथ होनी चाहिए। बच्चों के सर्वांगीण विकास का दायित्व पूरे परिवार एवं समाज का होता है माताएं बच्चों के सर्वांगीण विकास में मुख्य भूमिका निभाती है माताओं को अपने घर पर की गतिविधियों के माध्यम से बच्चों को शिक्षा देने का बताया गया ।बच्चों को खाना बनाते समय सब्जी ,सब्जियों के माध्यम से गिनना ,छोटा बड़ा की पहचान, रंगों की पहचान आदि सिखा सकते हैं उन्हें अपनी भाषा में गीत कहानी आदि सुनाना जिससे बच्चों में सुनने एवं कल्पना करने की क्षमता का विकास होता है।

किसी गीत पर नाचना सिखाया जा सकता है बच्चों में साहस एवं उत्साह बढ़ता है इस प्रकार बच्चों को घर पर विभिन्न गतिविधियों के माध्यम से प्रारंभिक शिक्षा देने को माताओं को प्रोत्साहित किया गया। इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य बच्चों का सर्वांगीण विकास करना है साथ ही माताओं बच्चों के सर्वांगीण विकास करना है साथ ही माताओं बच्चों के साफ-सफाई पर विशेष ध्यान देने की बात कही गई एवं बच्चों का को सावधानीपूर्वक साला भेजने को कहा गया। अंगना म शिक्षा के कार्यक्रम के तहत प्राथमिक शाला कोटनखोड़ में अध्ययनरत विद्यार्थियों की माताएं कार्यक्रम में उपस्थित होकर प्रशिक्षण में सहभागी बने।

NEWS27_REPORTER

http://news27.org

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *