दुर्गुकोंदल:   स्वामी विवेकानंद की याद में विश्व बंधुत्व दिवस पर शिक्षकों को  सम्मानित

By।शिवचरण सिन्हा


दुर्गुकोंदल।11 सितंबर की तारीख दो घटनाओं के कारण ऐतिहासिक है, पहला, 11 सितंबर, 1893 को स्‍वामी विवेकानंद ने अमेरिका के शिकागो में आयोजित धर्म संसद में प्रसिद्ध भाषण दिया।उसमें पूरब के चिंतन के बारे में पश्चिम को बताया। दूसरा,आचार्य विनोबा भावे की जयंती ।वर्तमान कट्टरवाद पर स्‍वामी विवेकानंद ने यह बात कही थी कि दुनिया में धर्म के नाम पर सबसे ज्‍यादा रक्‍तपात हुआ है। कट्टरता और सांप्रदायिकता मानवता के सबसे बड़े दुश्‍मन हैं। शासकीय स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट विद्यालय दुर्गुकोंदल एवं शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय दुर्गुकोंदल ने संयुक्त रूप से विश्व बंधुत्व दिवस का आयोजन किया इस आयोजन में संजय वस्त्रकार के मार्गदर्शन में स्वामी विवेकानंद के वक्तव्य का उज्जवी वस्त्रकार, खुशबू कोमरा, जागृति ठाकुर, आयुष गायकवाड, भावेश ध्रुव सौरभ भैसारा ने प्रस्तुत किया साथ ही स्वामी विवेकानंद की जीवनी पर ज्ञानेश्वरी कावड़े द्वारा स्वामी विवेकानंद का संक्षिप्त जीवनी प्रस्तुत की। आज समस्त शिक्षकों को डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन को याद करते हुए सम्मानित किए इस अवसर पर प्राचार्य एस डी दास ने डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन से जुड़े महत्वपूर्ण प्रेरक विचार एवं स्वामी विवेकानंद के विचारों को प्रस्तुत किया संजय वस्त्रकार व्याख्याता ने स्वामी विवेकानंद के विचार और वर्तमान परिदृश्य पर उनके विचारों को जोड़कर कहा कि अधिक न्यायपूर्ण, समृद्ध और समावेशी दुनिया बनाने की क्षमता स्वामी विवेकानंद के विचारों में है।कार्यक्रम में भूमिका सुशीला जाड़े,प्रीति नरेटी,ज्योति जाड़े,जनिता कुलदीप,सानिया खान,ऋषि ध्रुव,हिमांशु का प्रशंसनीय योगदान रहा। इस अवसर पर प्राचार्य एस डी दास,अजय नेताम,संजय वस्त्रकार,दिलीप सेवता, ऐमन धनेरिया,मनीष गौतम,सुखसागर कोवाची,सग्राम कल्लो प्रमिता शाहा, बंगोमा चक्रवर्ती,सुधा वर्मा सोनिया चौधरी,सीमा विश्वास, मोना राय,लता निषाद,सोनाली मलिक,सुचेता, रिया देवनाथ उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन सुशीला जाड़े ने किया।

NEWS27_REPORTER

http://news27.org

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *