By।शिवचरण सिन्हा

दुर्गुकोंडल । गोंडवाना समाज द्वारा 15 अगस्त को नई फसल के आगमन की खुशी में नवाखाई पर्व पूरे बस्तर संभाग सहित अंचल में धूमधाम से मनाया गया। वनांचल क्षेत्र में समाज जन इष्ट देव को विशेष पूजा अर्चना की समाज के लोग धान की नई फसल आने को लेकर त्यौहार मनाया और यहां फसल को सबसे पहले अपने आराध्य देव बूढादेव को अर्पित करने के बाद प्रसाद के रूप में ग्रहण किया ।नई फसल को अर्पण करने के बाद पूरा परिवार एक साथ बैठकर इसे कोरिया के पत्ते में प्रसाद ग्रहण किया इसके पूर्व घर की बहू सभी का आरती उतारकर प्रसाद का वितरण किया गया ।यह परंपरा प्राचीन काल से चली आ रही है आदिवासी समुदाय में जो भावी बहू होती है।उसे भी इस दिन अपने घर लाकर में नया खिलाने का रस्म पूरा किया गया।

इसके अलावा नवाखाई के दूसरे दिन आज 16 सितंबर 2021 को पूरे अंचल में ठाकुर जोहरनी पर्व मनाया गया जिसके तहत गांव के लोग ग्राम गायता के घर में इकट्ठा होकर ग्राम गायता से भेंट करते हैं ।पूरे गांव में महिला पुरुष ग्राम गायता ठाकुर के घर एक साथ इकट्ठा होकर वार्तालाप सुख दुख की बातें करते हैं ।संस्कृति के अनुसार नृत्य रेला सुआ गीत का प्रदर्शन किया गया इसके अलावा ठाकुर जोहारनी के अवसर पर ग्राम गायता से भेंट कर इसी दिन आपसी मतभेद व लड़ाई झगड़े भुलाकर बड़ों के पैर छूकर आशीर्वाद लेते हैं इसे बासी तिहार के रूप में पूरे अंचल में ठाकुर जोहरनी मनाया गया ।जिसमें ग्राम के लोग एक साथ इकट्ठे होकर गायता ठाकुर के घर पहुंचकर ठाकुर जो हरनी कार्यक्रम किया गया जिसमें मिलजुल कर पूजा अर्चना कर ग्राम गायता ठाकुर से भेंट कर अन्य विषयों पर चर्चा कर एवं ग्राम गायतत ठाकुर के द्वारा ग्रामीणों के लिए भोजन की व्यवस्था की जाती है ।विकासखंड मुख्यालय दुर्गुकोंडल में ग्राम गायता बैजनाथ नरेटी के घर में ठाकुर जोहरनी का कार्यक्रम हर्षोल्लास के साथ रखा गया था जिसमें ग्रामीण महिला पुरुष हर्षोल्लास के साथ भाग लिया वही परंपरा के अनुसार गीत नृत्य रेला एवं अन्य कार्यक्रम आयोजित कर नवाखाई पर्व धूमधाम से मनाया गया ।

NEWS27_REPORTER

http://news27.org

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *