रेल बिजनेस में जेएसपीएल को मिली महत्वपूर्ण सफलता, मिला 89042 टन रेल आपूर्ति करने का ठेका

देश

नई दिल्ली। रेल बिजनेस में जेएसपीएल को एक महत्वपूर्ण सफलता मिली है। इस बार रेल विकास निगम लिमिटेड ने जिंदल स्टील एंड पॉवर लिमिटेड को आने वाली रेल विकास परियोजनाओं को पूरा करने के लिए 89042 टन रेल आपूर्ति करने का ठेका दिया है। रेल विकास निगम लिमिटेड ने इस आशय का आर्डर 8 मई 2019 को जारी किया है। इसकी कीमत लगभग 665 करोड़ रुपये आंकलित की जा रही है।
इस मौके पर जिंदल स्टील एंड पॉवर लिमिटेड के संयुक्त प्रबंध निदेशक नौशाद अख्तर अंसारी ने प्रसन्नता व्यक्त करते हुए भविष्य में कंपनी के रेल बिजनेस को आगे बढ़ाने के लिए महत्वपूर्ण बताया है। इससे पहले, जुलाई 2018 में, जेएसपीएल ने भारतीय रेलवे को रेल की आपूर्ति के लिए पहली बार वैश्विक निविदा हासिल की। भारतीय रेलवे द्वारा मंगाई गई रेल की आपूर्ति के लिए पहले वैश्विक निविदा में 8 अग्रणी कंपनियों द्वारा बोली लगाई गई थी, जिसमें दुनिया के 7 शीर्ष निर्माता थे। वैश्विक निविदा के अनुसार, जेएसपीएल को लगभग एक लाख टन लंबी रेल की आपूर्ति करनी थी, जिसकी कीमत 568 करोड़ रुपये थी। यह आपूर्ति एक वर्ष की अवधि में भारतीय रेलवे को करनी थी। जेएसपीएल ने समय के साथ 4 महीने पहले ही रिकॉर्ड समय में डिलीवरी पूरी कर ली थी। इस वैश्विक निविदा के तहत 30000 टन रेल की आपूर्ति करने के लिए जेएसपीएल ने एक अतिरिक्त ऑर्डर हासिल किया। जेएसपीएल ने भारत में रेल के उत्पादन के लिए सेल के बाद दूसरा खिलाड़ी बनने के लिए 2003 में अपने रायगढ़ संयंत्र में भारत की सबसे आधुनिक रेल मिल स्थापित की थी। इसकी रेल सबसे लंबी रेल में से एक है, जो प्लांट परिसर के भीतर किए गए फ्लैश बट वेल्डिंग के माध्यम से 480 मीटर रेल पैनल तक जा सकती है। जेएसपीएल में प्रति माह 50,000 से अधिक मीटरिक टन रेल की आपूर्ति करने की क्षमता है। कंपनी पहले ही ईरान, बांग्लादेश और कुछ अन्य जैसे देशों को रेल की आपूर्ति कर चुकी है। भारत में, जेएसपीएल ने भारतीय रेलवे और इसकी महत्वाकांक्षी समर्पित फ्रेट कॉरिडोर परियोजनाओं की आपूर्ति की थी। जेएसपीएल हेड हार्डेन्ड रेल्स का पहला और एकमात्र निर्माता भी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *