मां मनसा देवी मंदिर में  जगमगा रहे जोत

जशपुर। मां मनसा देवी की दुआ से सबकी बिगड़ी बनती है। यहां भक्तों की हर मुराद पूरी है। जिले से 5 किलोमीटर दूर चापा टोली नेंशनल हाइवे के निकट पहाडियो पर प्राचीन मां मनसा देवी मंदिर स्थित है। नवरात्रि में मां का दरबार रोशनी से जगमगा रहा है। एक अखंड ज्योत समेत भक्तों की मनोकामना दीप ज्योत प्रज्वलित है। वैसे तो श्रद्धालुओं का हमेशा यहां आना जाना लगा रहता है। पर नवरात्रि में श्रद्धालुओं 10 दिनों तक यहां रहकर मां की पूजा भजन करते है। पूजन पंडा विधि द्वारा किया जाता है। मां को प्रसन्न करने के लिए कोहड़ा बलि दी जाती है। नुकीले खीले के झूला पर झूलते है , सेज पर लेटते है । यह किसी देवीय चमत्कार से कम नही । मांदर की थाप व घंटी बजाकर भजन गान करते हैं। श्री फल, पुष्प आदि चढ़ाते हैं । पुजारी ने बताया नवरात्रि के समय मनसा देवी में काफी शक्ति होती है। जो कोई भी सच्चे मन से मां के शरण में आते है उनकी हर तमन्ना पूरी होती है।

अस्त्र पूजा

मंदिर में देवी ,देवताओं के अस्त्र रखे गये है ।यह काफी प्राचीन है । नवरात्रि में इसकी भी विशेष पूजा की गई इसे अस्त्र पूजा कहते है। इसमें त्रिशूल ,फरसा,टंगिया, तलवार ,धनुष आदि शामिल हैं।

कोहड़ा बलि

मान्यताओं के अनुसार मां को प्रतिवर्ष नवरात्र में कोहड़ा बलि दी जाती है। पुजारी देवी की आराधना करते हुए कोहड़ा बलि देते है।

किंवदंति

चापा टोली पहाड़ी में 21 देवी देवता स्व भू भुफुट निकाला है। उसमें चंद्रहासिनी,टांगीनाथ ,गायत्री, महामाया वैष्णव, खुडियारानी,देवी सती आदि है। स्वप्न्न आने पर ढूढने के लिए ग्रामीण पहाड़ी में आए। पहाड़ी में देवी देवता मिलने पर पूजा पाठ शुरू कर दिया गया। मंदिर की स्थापना 1926 में किया गया। मंदिर में भक्तों मन्नते लेकर आते है मन्नते पूरा होने पर आस्था बढ़ गया । मंदिर का प्रचार हुआ और लोग जुड़ने लगे।

NEWS27_REPORTER

http://news27.org

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *