दुर्गुकोंदल में संचालित स्वामी आत्मानंद शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय में राज्योत्सव मनाया

By।शिवचरण सिन्हा

दुर्गुकोंदल।विकास खंड दुर्गुकोंदल में संचालित स्वामी आत्मानंद शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय में राज्योत्सव मनाया गया । इस अवसर पर विद्यालय में विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए गए । जिसमें हायर सेकेंडरी स्तर तक के विद्यार्थियों ने मनमोहक कार्यक्रम प्रस्तुत कर छत्तीसगढ़िया संस्कृति ,परिधान , एवम यहां के रीति रिवाज की झलक पेश की ।
कार्यक्रम की अध्यक्षता विद्यालय के प्राचार्य एस डी दास ने की । कार्यक्रम की शुरुवात छत्तीसगढ़ महतारी एवम मां शारदा के प्रतिमा के समक्ष दीप प्रज्वलन विद्यालय के प्राचार्य एस डी दास,ब्याख्याता संजय वस्त्रकार, पंकज निषाद,सुनैना साहू,उत्तरा वस्त्रकार सहायक शिक्षिका,शाला नायक सुशीला जाड़े, आकाश ध्रुव के द्वारा किया गया । जिसमें विद्यालय के संस्कृत विद्यार्थी सुशीला जाड़े के मार्गदर्शन में विद्यार्थियों ने ही सरस्वती वंदना कर छत्तीसगढ़ के सुख समृद्धि की कामना की । इसके पश्चात छत्तीसगढ़ी परिधान में कृति बघेल,पूनम,रेखा,भूमिका,तमन्ना,किरण ने राजकीय गीत अरपा पैरी के धार…… गीत की प्रस्तुति दिया। विद्यालय के छात्र अनुज कुमार व उत्सव ने छत्तीसगढ़ राज्य के स्थापना के इतिहास पर प्रकाश डालते हुए,मध्यप्रांत से लेकर मध्यप्रदेश से अलग राज्य स्थापना होने तक की जानकारी विद्यार्थियों को दी । कार्यक्रम में विविध गीत में नृत्य कर विद्यार्थियों ने समा बांधा,कार्यक्रम के बीच उत्तरा वस्त्रकार द्वारा भजन,सुनैना साहू द्वारा सुभाषित, पंकज निषाद द्ववारा दोरला गीत प्रस्तुत किये।छात्र छात्राओं ने छत्तीसगढ़ी गीत गाया । जो छत्तीसगढ़ी परिधान में बेहद ही अच्छे लग रहे थे।सुग्घर छत्तीसगढ़ गीत में खुशबू कोमरा व भूमिका कोमरा ने अपनी छाप छोड़ी । हाय रे सरगुजा नाचे… गीत में सुशीला जाड़े, पूनम ,रेखा,योगिता,प्रियंका,मनीषा,प्राची ने, तो छत्तीसगढ़ ल कइथे दीदी में तमन्ना, किरण,भावना,कृति,खुशबू,सुशीला ने ,वही छत्तीसगढ़ी लोक परंपरा को मिश्रित गीत में समस्त कलाकारों ने मनमोहक प्रस्तुति देकर सबका मन मोह लिया ।


विद्यालय के प्राचार्य एस डी दास ने आशीर्वचन में विद्यार्थियों को उन्होंने छत्तीसगढ़ी संस्कृति के विविधता और बस्तर की संस्कृति पर प्रकाश डालते हुए कहा कि लक्ष्य एक बस्तर श्रेष्ठ को आधार मानकर बस्तर को श्रेष्ठ बनाना है। छत्तीसगढ़ राज्य की संस्कृति, परिधान एवम तीज त्योहार,खान पान सरगुजा संभाग से लेकर बस्तर संभाग तक एक जैसी ही है। संजय वस्त्रकार ने अपने वक्तव्य में सभी विद्यार्थियों, शिक्षक/ शिक्षिका एवम छत्तीसगढ़ के समस्त लोगों को राज्य स्थापना की शुभकामनाएं दी । हमारा राज्य दिनों दिन प्रगति करता रहे। इस अवसर पर प्राचार्य एस डी दास, संजय वस्त्रकार, पंकज निषाद, सुनैना साहू, उत्तर वस्त्रकार, नवीन पाल,मनोजित राय, राम कुमार भुआर्य, दुर्गेश खुदसुङ्गे, लच्छन दुग्गा, मिथिला पुडो, भुनेश्वर नेताम, सविता कावड़े, आदि उपस्थित थे।

NEWS27_REPORTER

http://news27.org

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *