दुर्गूकोंदल : विद्यार्थियों ने सीखा स्थानीय स्वशासन की गतिविधि

By।शिवचरण सिन्हा

दुर्गूकोंदल ।शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय आमाकड़ा के कला संकाय के छात्र-छात्राओं ने ग्राम पंचायत भवन आमाकड़ा में जाकर स्थानीय स्वशासन की व्यवस्था की बारीकियों को समझा।
भारतीय शासन प्रणाली के विकेन्द्रीकृत व्यवस्था के अंतर्गत ग्राम स्वराज के अंतर्गत निचले क्रम की स्वायत इकाई ग्राम पंचायत के कार्यविधि व स्थानीय स्वशासन में ग्रामवासियों के सहभागिता के संबंध में जानकारी देते हुए सरपंच रामरतन नेताम एवं सचिव कनक नरेटी ने बताया है कि यह स्वशासन का आधारभूत इकाई है जो गांव के विकास में गांववासियों की सहभागिता को सुनिश्चित करता है। ग्राम पंचायत संविधान के 11वीं अनुसूची में दिये गये 29 विषयों पर शासन के मार्गदर्शन में विकासात्मक कार्य संचालित करते हैं। पंचायत के माध्यम से किये जा रहे समस्त कार्यों की जानकारी दी गई तथा विद्यार्थियों द्वारा पूछे गये सभी प्रश्नों का जवाब देते हुए विद्यार्थियों को संतुष्ट किया गया। पंच, सरपंच व उपसरपंच के निर्वाचन व कार्यकाल तथा उनके कार्यों तथा बजट व्यवस्था पर भी विस्तारपूर्वक जानकारी दी गयी, रोजगार गारंटी योजना के हितग्राही मूलक काम और वृद्धावस्था पेंशन, आवास योजना तथा उनके हितग्राहियों के चयन की प्रक्रिया की जानकारी देकर ग्राम सचिवालय में जन्म-मृत्यु पंजीयन के कार्यों पर भी प्रकाश डाला गया।
स्वशासन की व्यवस्था व उनके संचालन की विभिन्न गतिविधियों के बारे में जानकार विद्यार्थी अत्यंत प्रसन्न हुए।
इस अवसर पर वरिष्ठ नागरिक धर्मेंद्र नेताम, उपसरपंच सगाबत्ती उसारे, सचिवालय के नोडल अधिकारी रुपेश नेताम, गौठान समिति के अध्यक्ष घनश्याम नेताम, पंच फूलेश्वरी नेताम, रश्मि दर्रो, आयतू राम, राधेलाल महावे, रजनू, पुतली कोमरा, मीना दर्रो, गोदावरी यादव, बिसरी, रोजगार सहायक पुष्पा यादव, अनित नेताम सहित ग्रामीण उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *