दुर्गुकोंडल: जूनियर रेड क्रॉस सोसयटी शा.उ.मा. वि. मेड़ो द्वारा विश्व एड्स दिवस मनाया गया

By।शिवचरण सिन्हा


दुर्गुकोंडल 1 दिसंबर । जूनियर रेडक्रोस सोसायटी शा.उ.मा.वि. मेड़ो द्वारा मानव श्रृंखला बना कर, रैली निकाल कर एवं जगह जगह चौक-चौराहा में रंगोली बना कर एड्स के बचाव हेतु किया लोगो को जागरूक किया किया गया। रेडक्रोस प्रभारी तृप्ति गजभिये(व्याख्याता) ने बताया कि संयुक्त राज्य अमेरिका के राष्ट्रपति ने साल 1995 में विश्व एड्स दिवस के लिए एक अधिकारिक घोषणा की थी जिसके बाद से 1 दिसंबर से हर साल लगातार विश्व एड्स दिवस मानते आ रहे है। जिसका उद्देश्य एचआईवी संक्रमण के प्रति जागरूकता बढ़ाना है। एड्स एक ऐसी बीमारी है जिसमें इंसान की प्रतिरोधक क्षमता नष्ट होने लगती है और व्यक्ति अलग अलग बीमारियों से ग्रसित हो जाता है। इतने सालों बाद भी अब तक एड्स का कोई प्रभावी इलाज नहीं है ।यह एक तरह का विषाणु जिसका नाम एच आई वी है ,से फैलती है भारत में भी एड्स अपने पैर पसारे हुए हैं हम सब की यह नैतिक जिम्मेदारी है कि हम पूरी सावधानी बरतें तथा इसके प्रति सभी को जागरूक बनाने का प्रयास करें इसके पीछे कई कारण है। जैसे लोगों में जागरूकता की कमी होना , लोगों के मन में एड्स को लेकर तरह तरह के भ्रम हो ना, लोगों का असुरक्षित यौन संबंध बनाना आदि। एड्स से बचाव ही इसका उपाय है, इसके लिए आवश्यक है कि इस रोग के फैलने के कारणों की जानकारी जन-जन तक पहुंचाया जाए। संस्था के प्राचार्य श्री हेमंत श्रीवास्तव ने बच्चों को जानकारी दिया कि जब तक हम एड्स के प्रति सजग नही रहेंगे तब तक हम लोगो को सजग नही कर सकते। संस्था के व्याख्याता श्री अनिल साहू ने जानकारी दिया कि रेडक्रोस के छात्र छात्राओं द्वारा रंगोली प्रतियोगिता का आयोजन किया गया था जिसमे प्रथम स्थान पर टिम्पल कोमरा एवम अमिता रही, दूसरे स्थान पर ऋतु जैन एवम कैलाश दुग्गा रहे तथा तीसरे स्थान पर रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *