सम्पूर्ण आर्यावर्त चंदखुरी माता और कौशल्या का ऋणी : श्रवण कुमार साहू


मानस गान महोत्सव चंदखुरी में तुलसी के राम मानस परिवार राजिम की सुरमई प्रस्तुति


रायपुर। भगवान श्रीराम चन्द्र के ननिहाल और माँ कौशिल्या के मायके चंदखुरी में मानस गान महोत्सव के अंतर्गत चौथे सप्ताह गरियाबंद जिले के ख्यातिप्राप्त मानस मंडली तुलसी के राम मानस परिवार राजिम के मानसकारों ने मिले प्रसंग पर श्रोताओं को अभिभूत कर देने वाली सुरमई प्रस्तुति देकर मन मोह लिया।विप्र धेनु सुर संत हित लीन्ह मनुज अवतार, निज इच्छा निर्मित तनु माया गुन गोपार”।बालकाण्ड के इस प्रसंग पर व्याख्यान करते हुए व्याख्याकार श्रवण कुमार साहू ने मनु शतरूपा के तपस्या और उसके फलस्वरूप भगवान राम को पुत्र के रूप में पाने का ज़िक्र करते हुए कहा कि मनु शतरूपा जैसे महामानव युगों में कभी कभी अवतार लेते हैं।माँ कौशिल्या ने श्रीराम जैसे पुत्र को जन्म देकर चराचर जगत पर उपकार किया,इस हेतु सम्पूर्ण आर्यावर्त धर्म धरा चंदखुरी एवम माता कौशिल्या का ऋणी है।

शिक्षकों से सजी हुई यह मानस की टोली गत छः वर्षों से छत्तीसगढ़ के कोने कोने तक पहुचकर रामकथा रसपान करा रहे है। मण्डली के संगीतकार के रूप में बलीराम पटेल बेंजो, भारत लाल साहू,हारमोनियम, युगल किशोर साहू तबला, धनेश ध्रुव नाल,चंदन यादव बांसुरी ,कोमल राम साहू मजीरा के साथ संगत करते हुए छत्तीसगढ़ी लोकविद्या एवम मानस के सन्देश को जन जन तक पहुँचाने का भगीरथ प्रयास कर रहे हैं ।

ज्ञात हो कि पितर मानस उत्सव के अपार सफलता के बाद मुन्ना लाल देवदास राष्ट्रपति पुरस्कृत शिक्षक कोपरा के संयोजन में इस महीने से प्रत्येक सप्ताह राम चरित मानस का भव्य आयोजन चंदखुरी के पावन धरा धाम में प्रारंभ हुआ जिसमें मानस मण्डलियों एवम राम रसिकों का अच्छा प्रतिसाद मिल रहा है।कार्यक्रम के अंत में कार्यक्रम संयोजक मुन्ना लाल देवदास(राष्ट्रपति पुरस्कृत शिक्षक कोपरा)के द्वारा1001/-रु की सम्मान राशि एवम माँ कौशल्या मानस प्रतिष्ठान चंदखुरी द्वारा स्मृति चिन्ह भेंट कर विदाई दी गई।आभार प्रदर्शन गालव साहू अध्यक्ष मन्दिर प्रबन्ध समिति चंदखुरी ने किया।कार्यक्रम को सफल बनाने में राजू धीवर अध्यक्ष नगर पंचायत चंदखुरी, दिनेश ठाकुर जनपद सदस्य, राजेंद्र वर्मा,ओमप्रकाश साहू,हेमंत वर्मा, एवम समस्त ग्रामवासियों का सराहनीय योगदान रहा।इस अवसर पर प्रदेश के कोने कोने से उपस्थित हजारों की संख्या में धर्मप्रेमी श्रद्धालुओं की गरिमामय उपस्थिति रही,जिन्होंने कार्यक्रम के प्रारंभ से अंत तक आनन्द लेकर पुण्य लाभ प्राप्त किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *