गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू ने कहा रामायण की शिक्षा को अपने जीवन में उतारें

By।शिवचरण सिन्हा



कांकेर 01 जनवरी ।जिले के चारामा विकासखण्ड के ग्राम परसोदा में तीन दिवसीय सस्वर मानसगान प्रतियोगिता को प्रदेश के लोक निर्माण, गृह, जेल, धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व, पर्यटन मंत्री ताम्रध्वज साहू ने शुभारंभ किया। उन्होंने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि तुलसीदास के रचित रामचरित मानस को पढ़कर अपने जीवन में उतारकर प्रसांगिक बनाये, उन्होंने कहा कि मानस गान के माध्यम से भगवान राम के चरित्रों को अपने जीवन में उतारने का प्रयास किया जाना चाहिये। भगवान राम छत्तीसगढ़ में लगभग 10 वर्ष तक वनवास का समय बिताये हैं। राज्य सरकार द्वारा राम वन गमन पथ का संरक्षण करने का कार्य किया जा रहा है। छत्तीसगढ़ में कोरिया से लेकर सुकमा जिले के रामाराम तक 52 स्थलों को चिन्हांकित किया गया है, जिसमें से 09 स्थानों पर संरक्षण कार्य प्रांरभ किया गया है, जिसमें चन्दखुरी में माता कौशिल्या का मंदिर निर्माण कार्य पूरा किया गया है। उन्होंने कहा कि भगवान राम शिवरीनायण में माता शबरी से मिले थे, इसलिए शिवरीनारायण धार्मिक स्थल बन गया है। गृह मंत्री ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा राजीव युवा मितान क्लब के माध्यम से गांव-गांव में रामायण, तीज-त्यौहार और संस्कृति का संरक्षण के लिए प्रति वर्ष 01 लाख रूपये दिये जाने का निर्णय लिया गया है।
गृह मंत्री साहू ने ग्राम परसोदा में सीसी सड़क निर्माण के लिए बजट में प्रवधान कराने की बात कही। कार्यक्रम को छत्तीसगढ़ विधानसभा के उपाध्यक्ष एवं भानुप्रतापपुर विधायक मनोज सिंह मण्डावी, जिला पंचायत अध्यक्ष हेमन्त ध्रुव, गौ सेवा आयोग के अध्यक्ष नरेन्द्र यादव, बस्तर विकास प्राधिकरण के सदस्य बिरेश ठाकुर, ग्राम परसोदा के सरपंच श्रीमती भावेश्री केमरो ने भी संबोधित किया गया। इस अवसर पर पुलिस उप महानिरीक्षक बालाजी राव, पुलिस अधीक्षक शलभ कुमार सिन्हा, अपर कलेक्टर सुरेन्द्र प्रसाद वैद्य, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक गोरखनाथ बघेल, जनपद पंचायत चारामा के अध्यक्ष अरूण मरकाम, जिला पंचायत सदस्य नवलीमीना मण्डावी, मानस मण्डली के अध्यक्ष एवं सदस्य सहित बड़ी संख्या में ग्रामीणजन उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *