दुर्गुकोंडल: नवा जतन उपचरात्मक शिक्षण प्रशिक्षण

by।शिवचरण सिन्हा


दुर्गुकोंडल। राज्य शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद छत्तीसगढ़ रायपुर के तत्वाधान में जिला एवं संकुल स्तरीय प्रशिक्षण नवाजतन का चार दिवसीय प्रशिक्षण दुर्गुकोंडल ब्लॉक के प्राथमिक शाला पलाचुर में किया जा रहा है। यह प्रशिक्षण संकुल केंद्र दुर्गुकोंदल,सिंहारी और मर्रामपानी के प्राथमिक और माध्यमिक शाला के समस्त शिक्षक शिक्षिकाओं को दिया जा रहा है । उक्त प्रशिक्षण में कोविड-19 के काल में बच्चों के शैक्षणिक स्तर में गिरावट को ध्यान में रखते हुए उपचारात्मक शिक्षण एफ एल एन निपुण भारत के तहत बुनियादी साक्षरता व संख्या ज्ञान पर आधारित है बच्चों के सर्वांगीण विकास हेतु बच्चों का मूल्यांकन निदानात्मक परीक्षण एवं उपचारात्मक शिक्षण सीखने के प्रतिफल 20वीं एवं 21वीं सदी का विश्लेषणात्मक चर्चा मूल्यांकन एक समालोचनात्मक चिंतन चुनौती क्या है, चुनौती से कैसे निपटें,कक्षा की स्थिति शिक्षक के पढ़ाने के तरीके सीखने के प्रतिफल विषय मित्र पियरलर्निंग ग्रुप लर्निंग आदि क्रिया विधि को नवाजतन के प्रशिक्षण में विस्तार पूर्वक जानकारी दी जा रही है ।इस प्रशिक्षण में आज सहायक‌ खंड शिक्षा अधिकारी श्रीमती अंजनी मरकाम, संकुल समन्वयक शंकर नागवंशी, हेमलाल खरे, टिकेश्वर साहू, प्रधान पाठक श्री कल्याण सिंह दुग्गा,शिवलाल बघेल, लक्ष्मी नारायण कड़ियाम त्रिवेणी साहू, ब्रह्मदेव नेताम के साथ पंकज नरेटी,डूमन साहू ,रूद्रकांत जैन,श्रीपतिदत्ता,श्रीमती मनीषा सिन्हा, सावित्री ठाकुर सविता गोटा,शोभा श्रीवास्तव व‌ अन्य शिक्षक शिक्षिका उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *