संस्कृति विभाग के उपसंचालक जे आर भगत की खुली पोल तो पत्रकार के खिलाफ झूठी शिकायत लेकर पहुचे थाने

छत्तीसगढ़

रायपुर– संस्कृति विभाग में आर्थिक अनियमितता, भस्टाचार का खेल जारी हैं विभाग में पदस्थ अधिकारी पद का दुरुपयोग करते हैं । यह अपनी मर्यादा भूलकर गड़बड़ी करने से बाज नही आ रहे हैं इनका सच उजागर करने के लिए मीडिया समय समय पर खबरें प्रकाशित करते रहतीं हैं। इस बार भरस्टाचार की बड़ी पोल खुली हैं जब खबरें प्रकाशित हुवी तो अधिकारी तिलमिलाये । अधिकारी जे आर भगत ने पद और गरिमा को महफूज रखने के लिए जातिगत लाभ प्राप्त करने की दृष्टि से पत्रकार पर दबाव बनाने के लिए शिकायत अजाक थाने में की है। जानकारी के मुताबिक उपसंचालक जगतदेव भगत की

जे आर भगत


खबर प्रसारित होने के बाद से ही वह आगबगुला हुुवे हैं उन्होंने पत्रकार से प्रतिकार लेने के लिए झूठी शिकायत राहुल गोस्वामी के खिलाफ की हैं। मिली जानकारी के अनुसार संस्कृति विभाग में जारी अनियमितता और भ्रष्टाचार का खेल चल रहा था इसको लेकर पत्रकार राहुल गोस्वामी ने प्रमुखता से उठाया है। जानकारी के अनुसार राजधानी के महंत घासीदास संग्रहालय का बीते 14 वर्षो से भौतिक सत्यापन नही होने, खनन से निकले बहुमूल्य सिक्के और बेशकीमती वस्तुयों के संग्रहालय में जमा नही होने, उपसंचालक भगत द्वारा पूर्व संस्कृति मंत्री के ओएसडी रहते गड़बड़ी करने की खबरों को प्रमुखता से प्रकाशित किया था।जिससे बौखलाए उपसंचालक जेआर भगत ने पत्रकार राहुुुल गोस्वामी की शिकायत की है।

जनहित में प्रसारित किसी भी खबरों में जाति का उल्लेख नही है, उसके बाद भी दबाव के लिये अजाक थाना में शिकायत की गई है। ताकि वहा चल रही गड़बड़ियों पर कार्यवाई ना हो सके और वहा की खबर प्रसारित न हो सके।इसकी शिकायत पत्रकार ने मुख्यमंन्त्री भूपेश बघेल, गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू से की है।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *