एक शिक्षक के भरोसे चल रहा है नारधा गाँव का स्कूल, छात्र, छात्रओ समेत पालको ने स्कूल का तालाबंदी कर किया शिक्षकों की मांग

एजुकेशन छत्तीसगढ़

By। योगेंद्र साहू

धमतरी । मगरलोड क्षेत्र के ग्राम पंचायत डुमरपाली के आश्रित ग्राम नारधा की शासकीय प्राथमिक शाला में शिक्षकों की कमी को लेकर विद्यार्थियों समेत पालको ने स्कूल में ताला जड़ दिया है।
दरअसल इस शासकीय प्राथमिक शाला में विद्यार्थी, शिक्षक की कमी से लम्बे समय से जूझ रहे है। यह वही गाँव है जहाँ से शहीद ललित दीवान पले बढ़े थे, जो देश की सेवा करते वीर गति को प्राप्त किया है। आज वही गाँव के बच्चे अपने स्कूल में पर्याप्त शिक्षको की कमी महसूस कर रहे है। जिसके चलते प्राथमिक शाला के सामने पालकों व ग्रामीणों के साथ विद्यार्थी भी शामिल हो गए है और स्कूल में ताला जड़ कर धरना प्रदर्शन कर रहे है.शिक्षक की कमी को लेकर कई बार इसकी जानकारी विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी को अवगत कराया गया है। उसके बाद भी यहां शिक्षक की व्यवस्था नही हो पाया है। इस स्कूल में अभी लगभग 100 विद्यार्थी अध्यनरत है. और केवल एक शिक्षिका के भरोसे जैसे तैसे इस स्कूल का संचालन हो रहा है सोचने वाली बात यह है कि एक शिक्षिका के भरोसे 5 क्लास संचालित हो रही है. विद्यालय में कुल 51 छात्र छात्राएं अध्ययनरत है। आखिर शिक्षिका बच्चों को यदि पढ़ाये तो पढ़ाये कैसे? इधर सहायक विकास खंड शिक्षा अधिकारी केआर साहू का कहना है कि विद्यालय 2 शिक्षक थे परंतु एक शिक्षक संतान पालन अवकाश पर चले गए तथा बाद में भी एक शिक्षक पदस्थ किये थे परंतु उसका स्थानांतरण होने से सिर्फ एक ही शिक्षक रह गए है।

ग्राम नारधा के पालकों व ग्रामवासियों का कहना है कि स्कूल में तत्काल पर्याप्त शिक्षक की व्यवस्था नही होती तब तक स्कूल का ताला नही खोलने की बात की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *