संस्कृति विभाग के उपसंचालक के खिलाफ सीएम भूपेश से शिकायत, उधर पत्रकार ने पुलिस को सौंपा 26 पन्नों का दस्तावेज…

क्राइम छत्तीसगढ़

रायपुर।संस्कृति एवं पुरातत्व विभाग में जारी गड़बड़ियां और भ्रष्टाचार की खबरे प्रकाशित करने पर पत्रकार के खिलाफ थाने में की गई शिकायत पर पत्रकार ने थाने में 26 पन्नो का दस्तावेज सौपा है। बीते 12 और 15 जुलाई खबरे प्रकाशित होने के बाद संस्कृति एवं पुरातत्व विभाग के उपसंचालक जगदेव राम भगत ने पत्रकार राहुल गिरी गोस्वामी पर अपमानित करने का आरोप लगाते हुये अनुसूचित जाति और जनजाति थाने में शिकायत किया था, जिस पर पत्रकार ने पुलिस को बयान दिया और साथ में 26 पन्नो का दस्तावेज भी प्रस्तुत किया जिसके आधार पर पत्रकार ने खबरों का प्रकाशन किया था। पुलिस को दिए बयान में पत्रकार ने कहा कि

“विभाग में जारी भ्रष्टाचार की खबरे प्रकाशित और प्रसारित होने पर आवेश और बौखलाहट में उपसंचालक जगदेवराम भगत ने दुर्भावनावश शिकायत किया है, जो पूरी तरह झूठा और निराधार है, अगर खबरे प्रकाशित करने पर ऐसे झूठे क़ानूनी मामलों में फसाया जायेगा तो कोई भी पत्रकार खबरे प्रकाशित नहीं कर पायेगा ।”

पत्रकार के बयान के बाद पुलिस अब संस्कृति विभाग के संचालक को पत्र लिखकर जवाब मांगेगी। उपसंचालक जगदेवराम भगत ने बिना विभागीय अनुमति के निजी तौर पर पत्रकार के खिलाफ शिकायत की थी। इस शिकायत और प्रकाशित खबरों के सबंध में पुलिस संचालक को पत्र लिख जवाब मांगेगी कि ” शिकायत करने के पूर्व उसने उच्चधिकारियों से कार्यवाही के सबंध में अनुमति लिया था या नहीं, और गड़बड़ी सबंधी खबरे प्रकाशित होने पर विभाग ने क्या कार्यवाही की।” जिसके आधार पर पुलिस कार्यवाही करेगी।

उधर भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ने वाली एक संस्था ने उपसंचालक जगदेव राम भगत के खिलाफ पुरातत्विक सिक्को को गायब करने, अपने सहयोगी के नाम पर 3 बैडरूम का फ्लेट लेने, आर्थिक अनियमितता और गड़बड़ी करने को लेकर 40 पन्नो का दस्तावेज मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को सौपा है। शिकायत के बाद मुख्यमंत्री बघेल ने विभाग से जवाब तलब के बाद विभाग में हड़कंप मचा हुआ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *