गायत्री परिवार की बहनों ने कैदियों को बांधी राखी

छत्तीसगढ़


महासमुंद। अपराध की सजा काट रहे कैदियों परिवार से दूर रहते हैं रक्षाबंधन आते ही इनको भी बहनों की यादे आती हैं । रविवार को रक्षाबंधन के उपलक्ष्य में जिला जेल में यहां महासमुंन्द्र व बागबहरा के गायत्री परिवार की बहनों ने कैदी भाइयो की कलाई में राखी बांधकर मुँह मीठा कराया । इस अवसर पर बहनो ने दीपमहायज्ञ व प्रवचन ,भजनपाठ किया। भागवताचार्य श्रीमती यमनी देवी ने कहा कि मनुष्य का

जीवन साधारण नही हैं, उनके महत्व को समझते हुवे आप सब बुरे विचारों के खिलाफ बगावत खड़ा करने जन्म जन्मांतरों को तोड़ मरोड़ के फेक दीजिए व गायत्री मंत्र का सहारा लेकर अपना सर्वागीण विकास करें ।श्रीमती सरला कोसरिया ने उद्धबोधन में कहा कि संयम सेवा साधना करके जीवन को तपोमय बनाये और देश व राष्ट्र निर्माण में सहयोग करें। चित्रलेखा साहू रायपुर ने आव्हान किया की सभी कैदी भाई बुराई त्याग कर अच्छे रास्तों पर चलें । कैदी भाइयों को राजश्री ठाकुए व सुधा बहन ने आशीर्वाद प्रदान किया। श्रीमती अर्चना साहू दीदी ने सुमधुर भजनों से सबका मन मोह लिया । इस दौरान तबले पर सोनू साहू व मनीष दिवान ने सहयोग किया। कार्यक्रम में सुरेश साहू, चंद्रकला चंद्राकर, फूलनासन ,पूर्णिमा साहू, प्रेमशीला,सरिता साहू,दुलारी,संगीता शर्मा, आदि बहने उपस्थित रही। इस आयोजन में जेलपरिसर के कर्मचारियों जेलर मोहन लाल,दशरथ नेताम, दिनेश कुमार साहू,भारत लाल जैन का सहयोग रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *