अल्पवर्षा से जुझ रहे 80 गांवों के 24 हजार एकड़ खेतों को पहली बार मिला सिंचाई के लिए पानी

छत्तीसगढ़

रायपुर। जोंक नदी पर जिला बलौदाबाजार के ग्राम अर्जुनी में निर्मित डायवर्सन योजना कसडोल- बिलाईगढ़ इलाके के किसानों के लिए वरदान साबित हुई है। अल्पवर्षा के हालात में भी उनकी खुशियां कम नहीं हुई हैं। इलाके के लगभग 80 गांवों के 24 हजार एकड़ खेतों को पहली दफा सिंचाई के लिए जल मिल सका है। नाबार्ड के सहयोग से नहरों की पक्की लाईनिंग का कार्य पूर्ण होने से ऐसा संभव हुआ है। रोपा- बियासी एवं निंदाई के लिए समय पर पर्याप्त पानी मिलने से फसलों के हालात काफी अच्छे हैं । किसानों के चेहरों में मुस्कान देखी-समझी जा सकती है। जोंक डायवर्सन योजना के मुख्य नहर एवं वितरक तथा शाखा नहरों से लगभग 700 क्यूसेक जल प्रवाह कर सिंचाई कार्य लगातार जारी है। नाबार्ड से सहायता प्राप्त जोंक मुख्य नहर के लाइनिंग कार्य पूर्ण होने के कारण अंतिम छोर के गांवों विशेषकर खपरीडीह तथा गिरवानी के लगभग 800 एकड़ खेतों में अनुबंध के अलावा अतिरिक्त सिंचाई सुविधा उपलब्ध कराई गई। इसी प्रकार बलार जलाशय के कमांड क्षेत्र में बलार पिकअप वियर के माध्यम से आ रहे पानी का समुचित उपयोग करते हुए कसडोल क्षेत्र के लगभग 15 ग्रामों के लगभग 3500 एकड़ खेतों में पहली बार सिंचाई की जा चुकी है। सिंचाई उद्वहन योजना से भी शिवनाथ नदी के पानी को लिफ्ट करके 300 एकड़ खेतों में सिंचाई उपलब्ध कराई गई। जोंक डायवर्सन कमाण्ड क्षेत्र के अंतर्गत विकासखंड बिलाईगढ़ इलाके के नगरदा के किसान श्री भरतलाल साहू, श्री भोजराम अजगले ग्राम सलिहा़, श्री छत्रलाल साहू ग्राम टुण्डरी, श्री रेवतीरमन चन्द्रा  चिकनीडीह, श्री महेत्तर लाल वर्मा ग्राम टुण्डरी, श्री बलराम चन्द्रा पूर्व अध्यक्ष जल उपभोक्ता संस्था सलौनीकला , श्री सालिक राम घृतलहरे सरपंच ग्राम पंचायत पचरी एवं सरपंच संघ के अध्यक्ष विकासखण्ड बिलाईगढ़ तथा जोंक कमाण्ड क्षेत्र के अंतिम छोर के कृषकगण श्री देवकुमार टण्डन ग्राम जुनवानी, श्री भागवत प्रसाद साहू ग्राम ओटगन, श्री कुंजराम पटेल ग्राम ग्वाली, श्री शिव कुमार केंवट ग्राम चिकनीडीह, श्री कुंजराम साहू ग्राम सलौनीकला, श्री गोवर्धन पटेल ग्राम करमंदी, श्री राजाराम पटेल ग्राम नवापारा आदि ने जोंक डायवर्सन से पहली दफा पानी मिलने पर खुशी जाहिर की है। उन्होंने कहा कि बिलाईगढ़ इलाका अधिकतर अल्पवर्षा के हालात से जुझता रहा है । जोक डायवर्सन  ने हम किसानों को एक अतिरिक्त संबल प्रदान किया है। अब हम अकाल की चिंता से मुक्त होकर बड़ी मेहनत से खेती का काम किए हैं। हमारे युवा बच्चों का रूझान भी पानी मिल जाने से खेती की ओर लगा है। उन्होंने बताया कि मुख्य नहरों की लाइनिंग कार्य होने से और तेज गति के साथ पानी हमारे खेतों तक पहुंच रहा है।  किसानों ने शाखा नहरों तथा छोटी नहरों की लाइनिंग कार्य किये जाने हेतु शासन से अनुरोध किया है ताकि  एक-एक बूंद पानी का बचाव करते हुए अधिक क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मुहैया हो सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *