लाखों का राजीव पंचायत बना खंडहर

छत्तीसगढ़

धमतरी।शासन ग्राम विकास के लिए लाखों रुपये खर्च करती हैं ताकि आमजनों को सुविधा मुहैया हो। इसी के तहत जिले के मगरलोड विकासखण्ड में भी लाखों रुपये की लागत से राजीव गांधी पंचायत भवन निर्माण किया गया हैं । भवन निर्माण के बाद से पंचायत भवन का उपयोग नही किया गया है। यह जर्जर और खंडहर बन गया है। सरकारी खजाने से निर्मित पंचायत भवन भले ही जनकल्याणकारी काम में न आ सका। लेकिन इसका फायदा असामाजिक तत्व भरपूर कर रहें । दरवाजे खुले होने के चलते सुबह से रात तक असामाजिक और शरारती तत्वों का डेरा बना गया हैं। लाखों रुपये का भवन उपयोगिता नही होने से टॉयलेट के दरवाजे गायब हो गया है। सभी कमरे में शराब के बोतल और डिस्पोजल पड़ा हुआ है। पंचायत प्रतिनिधियो के लापरवाही के चलते शासन द्वारा स्वीकृत भवन आज जर्जर और खंडहर में तब्दील हो चुका है। यहां के दीवार और आहाता टूट फुट कर जर्जर होता जा रहा है। सरपंच की लापरवाही के कारण भवन की उपयोगिता और सफाई में ध्यान नही दिया जा रहा है। करीबन 10 लाख रुपये की लागत से बना भवन के सालों बीत गए ।ऐसे ही हाल ब्लॉक के अन्य पंचायतों का भी हैं । जो सरपंच के लापरवाही के कारण भवन का दुरुपयोग किया जा रहा है। अगर इसी तरह पंचायत भवनों का हाल रहा तो सरकारी खजाने का बड़ा नुकसान होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *