‘उत्तराखंड की जिया-एक कुटुंब’ साहित्यिक संस्था की हुई स्थापना, कार्यक्रम में दिग्गज कवि-कवयित्रियों ने बांधा समां…

उत्तराखंड. नई दिल्ली के हिंदी भवन में जिया हिंदवाल ने ‘उत्तराखंड की जिया- एक कुटुंब’ साहित्यिक संस्था की स्थापना की. स्थापना के अवसर पर कई दिग्गज कवि-कवयित्रियों ने समां बांधा. बता दें कि ‘उत्तराखंड की जिया-एक कुटुंब’ साहित्यिक संस्था की स्थापना विगत 7 सितंबर को नई दिल्ली में की गई है. स्थापना कार्यक्रम के दौरान कार्यकारिणी पदाधिकारियों को पदभार भी सौंपा गया. 

जिसमें कुसुमलता पुंडेरा को अध्यक्ष पद का कार्यभार दिया गया. रौशन चितरंजन को उपाध्यक्ष, आशा दिनकर को महासचिव, करमेश सिन्हा को सचिव और शमीम अहमद खान को मीडिया प्रभारी नियुक्त किया गया है.
         

मुख्य अतिथि नीरज त्यागी और वरिष्ठ साहित्यकार पी. के सेठी ने कार्यक्रम का आगाज़ किया. सभी ने एक से बढ़कर एक काव्य पाठ की. सदाबहार मंचीय कवि और गीतकार अंगद धारिया ने उत्कृष्ट मंच संचालन करके कार्यक्रम की शोभा में चार चाँद लगा दिया. सभी कवियों का काव्य पाठ बहुत ही सुंदर काबिले तारीफ़ था. जितने भी कवि और कवयित्रियाँ वो अपने आप में अनुपम थे. 

कवि सम्मेलन में रामनिवास इंडिया, सेठी जी, जिया हिन्दवाल ‘गीत’, नीरज जी, डॉ अंगद धारिया, कुसुमलता पुंडेरा, शमीम जी, कामिल जी, कर्मेश सिन्हा, डॉ शैलजा, प्रतिमा जी, अनुज गोविंद सिंह पंवार व अन्य विशेष रूप से मौजूद रहे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *