108 पदों की भर्ती के लिये 1500 से अधिक आवेदन

छत्तीसगढ़

रायपुर। प्रदेश में पहली बार प्राइवेट नौकरी में सरकारी नौकरी जैसी भीड़ दिखी। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है की आने वाले समय में प्राइवेट नौकरी में और कम्पटीशन बढ़ेगा । शिक्षित बेरोजगारों की तादात अब अशासकीय नौकरी में भी देखने को मिल रहा है खास तौर पर जब सरकार द्वारा प्रदत्त कार्य हो तो और अधिक । इसी क्रम में राजधानी के शंकर नगर स्थित अनुपम नगर में रविवार को 108संजीवनी एक्सप्रेस में भाग्य आजमाने हजारों की तादात में अभ्यर्थी शामिल हुवे। इसके लिए योग्य अभ्यर्थियों के लिए interview रखा गया था। इस बार प्रदेश में संजीवनी एक्सप्रेस को संचालित करने की जिम्मा जय अम्बे एमरजेंसी सर्विसेस आई प्राइवेट लिमटेड को मिला है। नए बहाली में 20 पदों के लिए 1500 से अधिक अभ्यर्थियों का फार्म आने के कारण भर्ती प्रक्रिया की मुश्किलें बढ़ी। इस दिन सुबह से शाम तक उम्मीदवार की भीड़ थी। भीड़ बेकाबू देख सम्हालने के लिए बाउंसरों की जरूरत पड़ी । वहीं शाम होते ही 108 के फार्म जांच परख के बिना ही फार्म स्वीकार किया गया । बताया जा रहा कि अभ्यर्थियों को इंटरइव के लिए 10 दिनों के भीतर बुलाया जाएगा । इस दौरान छत्तीसगढ़ के विभिन्न जिलों के अभ्यर्थियों ने फार्म जमा किया।

108 को शासकीय नौकरी के भ्रम में : प्रदेश के दुरस्त इलाकों से आये अभ्यर्थियों 108 संजीवनी एक्स्प्रेस को शासकीय नौकरी समझके भ्रमित हो रहे थे। कइयों को ये भी पता नही था कि यह प्राइवेट नौकरी है। बात दे संजीवनी एक्सप्रेस प्राइवेट कंपनी है। यह देश प्रदेश में आपात कालीन चिकित्सा सेवाकार्य करती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *