बकुलाबेन पटेल ने 75 की उम्र में आरंगेत्रम की प्रस्तुति देने वाली प्रथम महिला

मनोरंजन

कहते है सीखने की उम्र नहीं होती अक्सर लोग उम्र दराज होने से यही कहते है कि आपके सीखने का समय चला गया आप आराम करो। हौसले में जान हो तो उम्र कोई मायने नहीं रखता । गुजरात में सूरत के 75 साल की  बकुलाबेन पटेल ने शनिवार को एक नृत्य प्रतियोगिता में हिस्सा लिया। उनकी आरंगेत्रम की शानदार प्रस्तुति देख कर हर कोई चौक गया। बढ़ती उम्र में नृत्य की प्रस्तुति देने वाली वह देश की पहली महिला बन गई हैं। आरंगेत्रम भरतनाट्यम नृत्य का एक हिस्सा है। इसमें 90 मिनट तक भरतनाट्यम की 9 कलाओं की प्रस्तुति दी जाती है। बकुलाबेन ने स्विमिंग के साथ स्पोर्ट्स जगत में शुरुआत की। 75 वर्ष की होने तक 185 सर्टिफिकेट-ट्रॉफी, प्रशस्ति पत्र और मेडल जीत चुकी हैं।

बकुलाबेन ने 68 की उम्र में आरंगेत्रम सीखना शुरू किया। वे बताती हैं, इसे सीखने में सात साल लगते हैं। इसलिए उम्मीद थी कि 75 साल की हाेने तक भरतनाट्यम का सपना पूरा हाे जाएगा। बढ़ती उम्र नृत्य करना सबसे बड़ा मेरे लिए चुनती था। कभी नकारात्म प्वाइंट होने से इसे छोड़ देने का विचार आया। लेकिन मेरे आत्मविश्वास ने मुझे आगे बढ़ाया। सीखते चार साल यूं ही बीत गए। परीक्षा में जब मैंने अच्छा परफॉमेंस किया तो मेरा आत्मविश्वास बढ़ गया। इसी के साथ ठान लिया कि अब पीछे नहीं हटना है। पिछले 4 महीनाें से मैं हर दिन 10 घंटे प्रैक्टिस कर रही थीं। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *