महिला स्व सहायता समूह द्वारा निर्मित गोबर के दिए की बिक्री बढ़ी अन्य प्रदेशों में भी हो रही मांग

छत्तीसगढ़

रायपुर। दीपावली में गोबर का महत्व विशेष तौर पर गोबर धन पूजा के दिन में जाना जाता है, इस दिन गोबर की मांग भी बढ़ जाती है। गोबर का उपयोग आपने घरेलू व कृषि कार्यों में देखा होगा। लेकिन अब गोबर का उपयोग दिए बनाने में किया जा रहा है जी हा आरंग विकासखंड के ग्राम बनचरौदा की स्व सहायता समूह की महिलाओं द्वारा गोबर से दिए बनाया जा रहा , इनकी बनाई गई कलाकृतियां देश भर में प्रसिद्धि हासिल कर रहीं। वहीं इनके बनाए गए दिए की मांग दिन ब दिन बढ़ती जा रही है। हालही में इनके द्वारा बनाएं गए गोबर के दिए विज्ञान प्रदर्शनी शंकर नगर बी टी आई मैदान में बिक रहे है, जिसकी अच्छी खासी बिक्री हो रही है ।विक्रेता ने बताया कि प्रतिदिन तीन घंटे में तीन हजार दिए की खपत हो रही है। यह थाली में सजे दिए का प्रति सेट 150 रुपय में बेचा जा रहा है। विक्रेता ने बताया कि हरिद्वार में दो लाख ,दिल्ली में तीन लाख, की बिक्री हो चुकी है। स्वस्थ व प्रदूषण रहित होने कारण गोबर के दिए कि डिमांड काफी बढ़ गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *