मां शाकंभरी रक्तदाता सेवार्थ समिति द्वारा आयोजित रक्तदान जागरूकता शिविर में स्कूली विद्यार्थियों ने कराया ब्लड टेस्ट

छत्तीसगढ़

बसना। मां शाकंभरी रक्तदाता सेवार्थ समिति द्वारा रक्तदान जागरूकता सेमिनार हायर सेकेंडरी स्कूल भूकेल में कोसरिया मरार समाज द्वारा आयोजित किया। इस अवसर में रायपुर से आए हुए ओम साईं रक्तदाता सेवार्थ सेवा समिति के संचालक वासुदेव अपने टीम के साथ और भूकेल स्कूल के प्राचार्य , नवभारत के वरिष्ठ पत्रकार शि डी बघेल ,ग्राम चकरदा से जगदीश पटेल उपस्थित रहे। पत्रकार बघेल ने रक्तदान के बारे में बताया कि ब्लड कैंसर पंजाब हरियाणा जैसे विकसित राज्य में भी बहुत तेजी से फैल रहा है। यह बीमारी वर्तमान में हो रहे कीटनाशक डीएपी यूरिया ऐसे खाद्य का उपयोग करने से हो रहा है अधिक मात्रा में यह बीमारी छत्तीसगढ़ में हो रही है क्योंकि सबसे अधिक कीटनाशक, रासायनिक खाद का उपयोग छत्तीसगढ़ में किया जाता है ।इस कारण व्यक्ति की आयु सीमा 100 से घटकर 50-55 तक सीमित हो गई है ।यह सब खानपान के कारण ही हुआ है । श्री बघेल ने थेलिसिमिया रक्त की कमी से होने वाली बीमारी रक्तदान और नेत्रदान अंगदान के बारे में विस्तृत जानकारी दें और लोगों को नेत्रदान और अंगदान के लिए भी जागरूक किया उनका स्लोगन था- जीते जी रक्तदान और मरने के बाद अंगदान। ओम साईं रक्तदाता सेवा समिति के संस्थापक वासुदेव ने बताया कि सिकलिन और थैलेसीमिया के पेशेंट को जिस तरह 15 दिन में ब्लड की जरूरत होती है और वैसे ब्लड के कारण जीवित रहते हैं सिकलिन में कभी-कभार बैठकर जरूरत होती है या फिर नहीं होती पर थैलेसीमिया 15 दिन तक जो ब्लड दिया जाता है उसे ब्लड से वह व्यक्ति जीवित रहता है यह सिकलीन , थैलेसीमिया जैसे बीमारी वंशानुगत है जो के माता पिता से अपने बच्चे तक आते हैं जिस तरह सादी में कुंडली मिलान करना जरूरी है उसी प्रकार शादी से पहले थैलेसीमिया का जांच करना भी बहुत ही आवश्यक है जिस तरह भारत सरकार ने पोलियो मुक्त भारत का अभियान चलाया था उसी तरह हमें थैलेसीमिया मुक्त भारत अभियान चलाकर सभी को इस बीमारी से छुटकारा दिलाना है ।इस प्रोग्राम में कोसरिया मरार समाज छत्तीसगढ़ के युवा प्रकोष्ठ प्रदेश महामंत्री भरत राम पटेल, प्रदेश कोषाध्यक्ष प्रकाश पटेल, महिला प्रकोष्ठ गीता पटेल उपस्थित रहें।

रक्तदान के प्रति समाज में फैली भ्रांतियों को दूर कर रहें दूर

इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य जनसाधारण में रक्तदान के प्रति फैली भ्रांतियों को दूर कर अपने समाज के सभी वर्ग के लोगों को जागृत करना था। इस कार्यक्रम को सफल बनाने में कोसरिया मरार समाज के मुखी राम पटेल, ठंडा राम पटेल, सहनू पटेल , खीर साय पटेल, मां शाकंभरी रक्तदाता सेवार्थ समिति के संचालक श्याम पटेल, गणेश राम पटेल, वरुण पटेल, कमलेश पटेल व शासकीय हायर सेकेंडरी स्कूल भूकेल के भूतपूर्व विद्यार्थियों का विशेष योगदान रहा। इस शिविर में विद्यार्थियों का ब्लड टेस्ट निशुल्क किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *