प्रगति महाविद्यालय में पुष्प सज्जा व भाषण प्रतियोगिता आयोजित

एजुकेशन

रायपुर। एक कोमल एहसास है पुष्प दुख सुख का प्रतीक है पुष्प अपनी जीवन की अभिलाषा का प्रतीक है पुष्प ।आज प्रगति महाविद्यालय चौबे कालोनी रायपुर में रंगारंग कार्यक्रम व पुष्प सज्जा प्रतियोगिता आयोजित किया गया। इस अवसर में प्रतिभागियों ने गणेश मंदिर,नावा पोस्टर, सेन्टर टैबल डेकोर ,डाइनिंग फ्लावर पोर्ट, फूल का गुलदस्ता एवं बास्केट के द्वारा पुष्प सज्जा कला का अनूठा परिचय दिया ।प्रतियोगिता की निर्णायक श्रीमती बबीता अग्रवाल थीं। प्राचार्य डॉ. सौम्या नैयर ने विद्यार्थियों की प्रतिभा को सराहा उन्होंने बताया कि इन माध्यमों से विद्यार्थियों को बहुमुखी प्रतिभा सामने आती है तथा उनका आत्मविश्वास बढ़ता है ।कार्यक्रम के दूसरी कड़ी में भाषण प्रतियोगिता रखा गया। जिसका शीर्षक वर्तमान समय में प्रदूषण सबसे बड़ा अभिशाप है। विद्यार्थियों ने समस्यायिक परीस्थितियों पर विचार प्रस्तुत किया। उन्होंने प्लास्टिक बैन,स्माग से बढ़ता प्रदूषण कारखानों की चिमनी से उठता धुंवा एवं कारखानों की प्रदूषित सामग्री,वाहनों के धुवे से फैलता प्रदूषण,ध्वनि प्रदूषण जैसे विविध विषयो पर विचार व्यक्त किये और उनसे निजात कैसे पाया जा सकता है इस पर विचार व्यक्त किया। इस अवसर पर प्रगति महाविद्यालय के प्राचार्या सौम्या ने बढ़ते प्रदूषण पर चिंता व्यक्त करते हुवे विद्यार्थियों से आहवान किया कि वे राष्ट्र निर्माता है और वे ही देश को प्रदूषण मुक्त कराने का प्रयास कर सकते है। प्रतियोगिता के निर्णायक अमिताभ दुबे थे।इस अवसर में समस्त विभागों के विभागाध्यक्ष एवं समूह प्रभारी उपस्थित थे उनका कार्यक्रम को सफल बनाने में विशेष योगदान रहा ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *