फेस्टिवल का रंगारंग शुभारंभ : आदिवासी नर्तक दलों की प्रस्तुति पर झूमे लोग

मनोरंजन


जशपुर।जिला स्तरीय ट्राईबल डांस फेस्टिवल का रंगारंग शुभारंभ शुक्रवार को गम्हरिया ग्राम पंचायत स्थित मॉडल स्कूल के प्रांगण में हुआ। कलेक्टर निलेशकुमार महादेव क्षीरसागर, सीईओ जिला पंचायत श्री एस.के.मण्डावी, जनपद अध्यक्ष श्रीमती शारदा प्रधान एवं अन्य जनप्रतिनिधियों की विशेष मौजूदगी में ट्राईबल डांस फेस्टिवल का शुभारंभ दीप प्रज्जवलन से हुआ। दो दिवसीय फेस्टिवल के प्रथम दिन जिले के जशपुर, मनोरा, कुनकुरी एवं दुलदुला जनपद के विभिन्न ग्रामों के 16 नर्तक दलों ने विवाह, फसल कटाई एवं पारंम्परिक त्यौहार के अवसर पर गाए जाने वाले गीत एवं नृत्य की शानदार प्रस्तुति दी। स्कूल प्रांगण में आदिवासी नर्तक दलों द्वारा प्रस्तुत गीत एवं नृत्य पर दर्शक झूम उठे। ट्राईबल डांस फेस्टिवल के उपलक्ष्य में सभी विभागों द्वारा विभागीय योजनाओं की उपलब्धि पर आधारित आकर्षक प्रदर्शनी भी लगाई गई है।
कलेक्टर निलेशकुमार महादेव क्षीरसागर ने इस मौके पर कार्यक्रम में भाग लेने वाले नर्तक दलों का उत्साहवर्धन करते हुए अपना सम्बोधन कुडूक बोली में दिया। इस दौरान कार्यक्रम स्थल पर लगातार तालियां बजती रही। कलेक्टर ने सभी लोगों को इस कार्यक्रम के आयोजन के लिए बधाई और शुभकामना देते हुए कहा कि हमारे छत्तीसगढ़ राज्य के बस्तर, सरगुजा अंचल के सभी जिलों में आदिवासी जनजाति के लोग बड़ी संख्या में निवास करते हैं। सभी की अपनी अलग-अलग कला एवं संस्कृति है, जिसकी वजह से छत्तीसगढ़ की अलग पहचान है। उन्होंने छत्तीसगढ़ शासन द्वारा आदिवासी कला एवं संस्कृति के संरक्षण एवं संवर्धन के लिए नेशनल ट्राईबल डांस फेस्टिवल के आयोजन की सराहना की। कलेक्टर ने कहा कि इसके जरिए आदिवासी कला एवं संस्कृति को एक मंच मिला है। आदिवासी क्षेत्रों में रहने वाले कलाकरों को प्रदेश और देश में अपनी कला के प्रदर्शन का अवसर पर मिला है।
ट्राईबल डांस फेस्टिवल में जशपुर जनपद की श्रीमती गोरती बड़ा के दल द्वारा विवाह, श्री बसिल मिंज के दल द्वारा फसल कटाई एवं रामदयाल मांझी के नर्तक दल ने पारंम्परिक त्यौहार के अवसर पर गाए जाने वाले गीत एवं नृत्य की प्रस्तुति दी। मनोरा ब्लॉक के विनोद मिंज नृत्य दल डूमरटोली ने विवाह, सेविका दल सुरजूला ने पारंम्परिक त्यौहार, लोकसंगीत आदिवासी अकादमी पण्डरसिली द्वारा नागपुरी गीत, बुमतेल के आशी भगत ने एकल गीत तथा झलिया राम सुरजूला ने बांसुरी वादन कुनकुरी ब्लॉक के सुशीला भगत के दल द्वारा पारंम्परिक त्यौहार, श्री त्रिलखन राम एवं मलिन्दर तथा दुलदुला ब्लॉक के सिमड़ा की श्रीमती सुषमा टोप्पों के नर्तक दल द्वारा पारंम्परिक त्यौहार के अवसर पर गाए जाने वाले गीत एवं नृत्य की प्रस्तुति दी गई। इस अवसर सभी जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *