दलगत भावना से ऊपर उठकर एकजुटता से कार्य करें: राज्यपाल

छत्तीसगढ़

रायपुर।राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उइके ने सर्व आदिवासी समाज के लोगों से कहा है कि वे समाज हित में दलगत भावना से ऊपर उठकर एकजुटता सेे कार्य करें। साथ ही सभी सामाजिक संगठन के पदाधिकारी आदिवासियों को संविधान में दिए गए अधिकारों और किए गए विभिन्न प्रावधानों से आदिवासी समाज के लोगों को अवगत कराएं। राज्यपाल ने यह बात शुक्रवार को उन्होंने राजभवन में कांकेर विधायक शिशुपाल सोरी के नेतृत्व में उनसे मिलने आए सर्व आदिवासी समाज के लोगों से कही। इस अवसर पर अंतागढ़ के विधायक श्री अनूप नाग विशेष रूप से उपस्थित थे। इस मौके पर प्रतिनिधिमण्डल ने राज्यपाल को 09 दिसंबर को कांकेर जिले के राजाराव पठार में आयोजित शहीद वीर नारायण सिंह की जयंती में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया।
राज्यपाल सुश्री उइके ने कहा कि यह खुशी की बात है कि आदिवासी समाज के लोग मिलने के लिए राजभवन आते रहते हैं। यह उनकी जागरूकता का प्रतीक है। उन्होंने सामाजिक संगठनों से कहा कि वे लोगों को शिक्षित कर जागरूक होने के लिए प्रेरित करें, ताकि आदिवासी समाज अन्य लोगों की तरह आगे बढ़ सके। राज्यपाल ने कहा कि संविधान में किए गए प्रावधानों जैसे पांचवी अनुसूची, पेशा कानून एवं अनुसूचित जाति एवं जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम सहित विभिन्न प्रावधानों से समाज के लोगों को अवगत कराएं। उन्होंने इन प्रावधानों की जानकारी देने के लिए अधिकारियों और समाज के प्रमुखों के लिए प्रशिक्षण आयोजित करने की आवश्यकता व्यक्त की। राज्यपाल ने आदिवासी जनप्रतिनिधियों से अपेक्षा की है कि वे समाजहित की बातों को विधानसभा में उठाएं, ताकि उनका निराकरण हो सके।
इस अवसर पर छत्तीसगढ़ के विभिन्न जिलों से आए हुए सर्व आदिवासी समाज के पदाधिकारियों ने विभिन्न समस्याओं की ओर राज्यपाल का ध्यान आकृष्ट किया। कांकेर के विधायक श्री सोरी ने सर्व आदिवासी समाज की समस्याओं को गंभीरता से सुनने के लिए राज्यपाल का आभार व्यक्त किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *